Home » ज़रा हटके » क्या आप जानते हैं महिलाओं के पेट में क्यों नहीं पचती कोई बात?

क्या आप जानते हैं महिलाओं के पेट में क्यों नहीं पचती कोई बात?

आमतौर पर कहा जाता है कि महिलाओं के पेट में कोई बात नहीं पचती है. अगर आपको कोई बात फैलानी हो तो आप किसी एक महिला को बता दें और यह कह दें कि बताना मत. फिर देखिये वो महिला कैसे आपकी बात को दूर-दराज तक फैला देती है. वहीं उलट पुरुष लोग अपनी बातों को शेयर करने से कतराते हैं वह दूसरों की बातों को सुनकर इधर की उधर नहीं करते हैं. कई बार आपके मन में सवाल आता होगा कि आखिर औरतों के पेट में बात क्यों नहीं पचती है, तो चलिए बतातें है इसका कारण….

महिलाओं के चुगली करने की आदत 

महिला और पुरूष के स्वभाव में काफी अंतर होता है. पुरूष जहां कठोर स्वभाव के होते है वहीं महिलाएं इमोशनल होती है. इसीलिए वह भावनाओं में बहकर सबकुछ दूसरों के सामने बोल देती है.

* ज्यादातर महिलाएं चाहती है कि हर कोई उनके प्रति आकर्षित हो. ऐसे में वे अक्सर ऐसी बात कहने की सोचती  रहती हैं, जिससे कुछ सस्पेंस क्रिएट हो जाए.

* महिलाओं और पुरुषों में सबसे अहम फर्क़ बोलने का होता है. पुरुष पहले सोचते हैं, फिर बोलते हैं लेकिन महिलाएं बिना सोचे समझे बहुत कुछ बोल देती हैं.

* महिलाओं के पेट में बात न पचने का सबसे बड़ा फायदा उनकी हैल्थ पर पड़ता है. इससे वह अपने दिल की बात को दूसरों के साथ शेयर करके अपना मन हल्का तो कर लेती है, जो उनकी हैल्थ के लिए काफी अच्छा होता है.

* महिलाएं बहुत सारी बातें इसलिए भी करती हैं क्योंकि वे दूसरों को यह दिखाना चाहती हैं कि वे कितनी स्मार्ट और टैलेंटेड हैं.

Loading...