Home » ज्योतिष » घर में रखें लक्ष्मी माता का यह स्वरूप, बन जाएंगे मालामाल

घर में रखें लक्ष्मी माता का यह स्वरूप, बन जाएंगे मालामाल

देवी लक्ष्मी को धन और संपन्नता की देवी के रूप में पूजन किया जाता है। अक्सर लोग अपने घर व आॅफिस में लक्ष्मी जी के प्रतिरूप को अवश्य स्थापित करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि देवी लक्ष्मी के स्वरूप को स्थापित करने से पहले विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। तो चलिए जानते हैं कि घर में किस तरह स्थापित करें लक्ष्मी जी की प्रतिमा-

कभी भी घर में लक्ष्मी माता के ऐसे स्वरूप का पूजन करने की भूल न करें, जिस पर वो उल्लू की सवारी कर रही हों। अगर आप यह गलती करते हैं तो समझ लीजिए कि अब आपके धन आगमन के सभी रास्ते बंद होने लगते हैं। इतना ही नहीं, अगर कहीं से धन आ भी जाए तो वो टिकता नहीं, खर्च हो जाता है।

शास्त्रों के अनुसार लक्ष्मी का वाहन निशाचर उल्लू है। ऊल्लू रात के समय अत्यधिक क्रियाशील होता है। जब लक्ष्मी एकांतए सूने स्थानए अंधेरेए खंडहरए पाताल लोक आदि स्थानों पर जाती हैंए तब वह उल्लू पर सवार होती हैंए तब उन्हें उलूक वाहिनी कहा जाता है। उल्लू पर विराजमान लक्ष्मी अप्रत्यक्ष धन अर्थात काला धन कमाने वाले व्यक्तियों के घरों में उल्लू पर सवार होकर जाती हैं।

अगर आप चाहते हैं कि आपको कभी भी धन के अभाव का सामना न करना पड़ें तो आप घर में ऐसी प्रतिमा रखें, जिसमें श्री हरि विष्णु और देवी लक्ष्मी गरूड़ पर सवार हों, ऐसे स्वरूप का प्रतिदिन विधि-विधान से पूजन करने से घर में श्री जी सदा वास करती हैं।

लक्ष्मी जी के आठ स्वरूपों में से आप उनके किसी भी स्वरूप को घर में स्थान दे सकते हैं। गृहस्थ लोगों के लिए बैठी लक्ष्मी समृद्धि-संपन्नता की प्रतीक हैं, वहीं कार्य स्थानों पर खड़ी लक्ष्मी का पूजन करना चाहिए, इससे आप दिन दुगनी रात चौगुनी तरक्की करते हैं।

काले तिल के ये अचूक उपाय कर देंगे आपकी समस्या को दूर

Loading...